कुरुक्षेत्र – सूर्य ग्रहण में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए किए जाएंगे सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम : पिलानी

116
ख़बर सुने
🔔 वीडियो खबरें देखने के लिए 👉 यहां क्लिक करें 👈और हमारे चैनल को सब्सक्राइब व 🔔 का बटन दबा कर तुरंत पाए ताजा खबरों की अपडेट

कुरुक्षेत्र 16 अगस्त (कुलदीप सैनी) :   मेला प्रशासक एवं अतिरिक्त अखिल पिलानी ने कहा कि कुरुक्षेत्र में 25 अक्टूबर को सांय 4 बजकर 27 मिनट से लेकर सायं 6 बजकर 25 मिनट तक सूर्य ग्रहण लगेगा। इस सूर्य ग्रहण को लेकर ब्रह्मसरोवर और आस-पास के क्षेत्र में सूर्य ग्रहण मेला लगेगा। इस मेले में ब्रह्मसरोवर व सन्निहित सरोवर में स्नान करने के लिए हर सूर्य ग्रहण पर देश-प्रदेश से लाखों की संख्या में लोग पहुंचते है। इन श्रद्धालुओं के लिए प्रशासन की तरफ से सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए जाने है। इसलिए सभी विभाग अपने-अपने स्तर पर प्रबंधों का खाका तैयार करेंगे।

एडीसी अखिल पिलानी मंगलवार को देर सायं लघु सचिवालय एनआईसी कार्यालय में सूर्य ग्रहण मेले की तैयारियों को लेकर विभिन्न विभागों के अधिकारियों से चर्चा कर रहे थे। इससे पहले मेला प्रशासक एवं एडीसी अखिल पिलानी ने मेला अधिकारी एसडीएम अदिति, डीएसपी सुभाष चंद, नगर परिषद के अधिकारी केएल बठला के साथ-साथ जनसम्पर्क विभाग, परिवहन विभाग, जन स्वास्थ्य विभाग, लोक निर्माण विभाग, स्वास्थ्य विभाग, जिला आयुर्वेदिक अधिकारी, रैड क्रॉस, वन विभाग, कृषि विभाग, जिला बाल कल्याण विभाग, कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड सहित अन्य विभागों के अधिकारियों से सूर्य ग्रहण मेले में होने वाले प्रबंधों और व्यवस्थाओं के बारे में फीडबैक रिपोर्ट ली है। एडीसी ने कहा कि कुरुक्षेत्र में 25 अक्टूबर को सायं के समय सूर्य ग्रहण लगेगा और इस सूर्य ग्रहण मेले में दूर दराज से लाखों लोगों के पहुंचने की संभावना है। इसलिए मेले का सुचारू रूप से सफल आयोजन करने के लिए सभी विभागों को अपने-अपने विभाग के स्तर पर प्रबंधों का अपना एक खाका तैयार करना होगा ताकि समय रहते तमाम व्यवस्थाएं पूरी की जा सके।

उन्होंने कहा कि सूर्य ग्रहण मेले में ब्रह्मसरोवर में स्वच्छ जल व चारों तरफ सफाई, पार्किंग की व्यवस्था, पब्लिक एड्रेस सिस्टम, कन्ट्रोल रूम, अतिरिक्त बसोंं व रेल की व्यवस्था, सुरक्षा के लिए पर्याप्त मात्रा में पुलिस की तैनाती, शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को सुचारू रखने, पीने के पानी की व्यवस्था, शौचालयों की व्यवस्था, श्रद्धालुओं के ठहरने व संस्थाओं के सहयोग से लंगर आदि की व्यवस्था, सूचना कक्ष, सूचना प्रसारण केन्द्र, अस्थाई बस स्टैंड, लाइटिंग व्यवस्था सहित अन्य प्रबंधों को किया जाना है। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी इन तमाम प्रबंधों को लेकर समीक्षा करें और अपनी रिपोर्ट बजट सहित तुरंत सौंपना सुनिश्चित करें। इसके साथ ही सभी अधिकारियों को आपसी तालमेल के साथ काम करना होगा ताकि किसी भी स्तर पर किसी भी प्रकार की कोई कमी ना रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here