रादौर – चढूनी पर तानाशाही का रवैया लगा भाकियू संगठन सचिव ने दिया त्यागपत्र, संगठन ने नहीं किया मंजूर

90
ख़बर सुने
🔔 वीडियो खबरें देखने के लिए 👉 यहां क्लिक करें 👈और हमारे चैनल को सब्सक्राइब व 🔔 का बटन दबा कर तुरंत पाए ताजा खबरों की अपडेट

रादौर, 24 मार्च (कुलदीप सैनी) : भारतीय किसान यूनियन चढूनी ग्रुप से जुड़े प्रदेश संगठन सचिव हरपाल सिंह सुढल ने अपने पद से त्यागपत्र देते हुए संगठन को अलविदा कह दिया है। लगभग 14 वर्षो से भारतीय किसान यूनियन चढूनी से जुड़े रहे हरपाल सिंह सुढल ने भाकियू प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम  सिंह  चढूनी पर तानाशाही का रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुए संगठन को छोड़ने की वीरवार को रादौर में घोषणा की। उन्होंने कहा कि वह भारतीय किसान यूनियन के संगठन को छोड़ रहे है, लेकिन वह किसानों व मजदूरों के हकों की लड़ाई लड़ते रहेंगे। उन्होंने कहा कि भारतीय किसान यूनियन में कार्यकर्ताओं की कोई पूछ नहीं है। संगठन मात्र दो-तीन लोगों की सलाह पर चल रहा है। काम करने वालों लोगों की कोई सुनवाई नहीं है। कोई सुझाव भी दिया जाता है, उसको भी दबा दिया जाता है। जिस कारण उन्होंने संगठन को छोड़ने का निर्णय लिया है। उधर भाकियू प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि संगठन की ओर से अभी प्रदेश संगठन सचिव हरपाल सिंह सुढल का त्यागपत्र मंजूर नहीं किया गया है। वह संगठन के वफादार सिपाही है। जल्द इस बारे बातचीत कर उन्हें संगठन के साथ जोड़े रखा जाएगा। किसी भी कार्यकर्ता की अनदेखी नहीं की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here