रादौर – जेएमआईटी में  इंस्टीट्यूशन इनोवेशन काउंसिल द्वारा किया गया विशेष सत्र का आयोजन

63
ख़बर सुने
🔔 वीडियो खबरें देखने के लिए 👉 यहां क्लिक करें 👈और हमारे चैनल को सब्सक्राइब व 🔔 का बटन दबा कर तुरंत पाए ताजा खबरों की अपडेट

रादौर, 28 मार्च (कुलदीप सैनी) : जेएमआईटी इंजीनियरिंग कॉलेज में सोमवार को ईडी सेल एवं प्रबंधन विभाग की ओर से इंस्टीट्यूशन इनोवेशन काउंसिल के सौजन्य से एक विशेष सत्र का आयोजन किया गया। जिसमें संस्थान के छात्रों एवं प्राध्यापकों ने हिस्सा लिया। गेस्ट लेक्चर का मुख्य विषय स्टार्टअप का नियोजन एवं कानूनी दिशा निर्देशों का अध्ययन रहा। सत्र के मुख्य वक्ता के रूप में सुश्री मनदीप कौर टंगरा, संस्थापक व सीईओ सिम्बा क़ट्जऱ् व मशहूर टेड एक्स वक्ता को आमंत्रित किया गया। सत्र का आयोजन ऑनलाइन गूगल मीट के माध्यम से किया गया जिसमें 181 छात्रों ने जुड़कर मुख्य वक्ता को सुना। मुख्य वक्ता ने कोरोना काल में रही आर्थिक मंदी के दौर में उद्यमीयता की उपयोगिता को समझाया। उन्होंने बताया कि किस प्रकार उन्होंने एक छोटे गांव से उठकर सफलता हासिल की। प्रतियोगिता के इस दौर में प्रत्येक व्यक्ति को रोजगार एवं आजीविका कमाने के लिए विभिन्न गुणों एवं कौशलों में निपुण होना जरूरी है। इस समय शोध के माध्यम से नए नए अवसरों की खोज करके स्वरोजगार की दिशा में उन्नति की जा सकती है। इस अवसर पर छात्रों ने मुख्य वक्ता से विभिन्न नये उद्यमों के अवसरों पर विचार विमर्श किया। सुश्री मनदीप कौर  ने छात्रों को आधुनिक समय के अनुसार स्वयं को ढालने और नई तकनीक सीखते रहने की बात कही। उन्होंने छात्रों को आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर प्रबंधन विभाग की अध्यक्षा अनुजा गोयल ने मुख्य वक्ता का छात्रों के मार्ग दर्शन के लिए धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि मुख्य वक्ता के विचारों से प्रभावित होकर छात्र अपने करियर को सही दिशा मे ले जा सकते हैं। इस अवसर पर प्रबंधन विभाग के सभी प्राध्यापक गणों ने भी मुख्य वक्ता के विचारों को सुना। संस्थान के निदेशक डॉ एसके गर्ग ने बताया कि प्रबंधन विभाग द्वारा छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए इस प्रकार के आयोजन समय-समय पर होते रहते हैं। जिसका छात्रों के शैक्षिक एवं अन्य गैर शैक्षिक मूल्यों में अहम योगदान रहा है। उन्होंने संस्थान द्वारा ईडी सेल के माध्यम से स्वरोजगार के लिए छात्रों को तैयार करने के प्रयासों को सबके सामने रखा। उन्होंने मुख्य वक्ता का धन्यवाद करते हुए भविष्य में भी छात्रों के मार्गदर्शन के लिए संस्थान के साथ जुड़े रहने की बात कही। गेस्ट लेक्चर के आयोजन में प्रबंधन विभाग के प्राध्यापक विक्रम सिंह का महत्त्वपूर्ण योगदान रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here