रादौर – जेएमआईटी में चल रहे दो दिवसीय वार्षिक महोत्सव का हुआ समापन 

26
ख़बर सुने
🔔 वीडियो खबरें देखने के लिए 👉 यहां क्लिक करें 👈और हमारे चैनल को सब्सक्राइब व 🔔 का बटन दबा कर तुरंत पाए ताजा खबरों की अपडेट

रादौर, 9 अप्रैल (कुलदीप सैनी) : जेएमआईटी इंजीनियरिंग कॉलेज में चल रहे 2 दिवसीय वार्षिक महोत्सव का शनिवार को समापन हो गया। कार्यक्रम का शुभारंभ पं ज्ञानप्रकाश, डॉ रमेश कुमार, डॉ एसके गर्ग, डॉ विकास दर्याल, डॉ विवेक शर्मा, डॉ एस के गर्ग, अनिल बुद्धिराजा परंपरागत दीप प्रज्वलित कर किया गया। इस वर्ष कार्यक्रम का मुख्य विषय नवरस था। कार्यक्रम में कॉलेज के उन विद्यार्थियों को सम्मानित किया उन्होंने संस्थान का परचम संस्थान के बाहर कई क्षेत्रों में अव्वल रह कर लहराया। इस वर्ष में तीन छात्रों को अमन वाल्दिया पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उन्होंने हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया। जिनमें कीर्ति शर्मा(आई टी-4), साहिल(एमई-3) व जागृति (सीएसई-2) शामिल थे। कॉलेज में आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं में कोरियोग्राफी में टीम प्राणसिंग पर्ल्स, समूह गायन में फिफ्थ हारमनी, लोक नृत्य में टीम हरनूर विजयी रही। वहीं मेहंदी प्रतिस्पर्धा में दीपाषा ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। पाश्चात्य नृत्य में शेडनज़ टीम ने बाज़ी मारी। एकल गायन में शिवम ने श्रेष्ठ प्रदर्शन किया। ट्रेसर हंट में टीम अवेंजर्स विजेता रही। संस्था को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने की लगातार कोशिश में अग्रणी शिक्षकों जिन्होंने पूरा दशक परिश्रम द्वारा सेवाएं दी, को उनके योगदान के लिए पुरस्कृत किया गया। पुरस्कार वितरण समारोह के पश्चात निदेशक डॉ रमेश कुमार ने युवा जोश की जमकर सराहना की। उन्होंने सबका मार्गदर्शन करते हुए छात्रों को राष्ट्र हित में कार्य करने की बात कही। इसके पश्चात उमंग और पूरे जोश के साथ भंगड़ा व फैशन परेड शुरू हुई। इसी बीच अंतिम वर्ष में पढ़ रहे छात्रों ने अपने संस्थान को धन्यवाद देते हुए, अपने दायित्व को आने वाले विद्यार्थियों को सौंपा। महोत्सव का समापन राष्ट्रगान से किया गया। संस्थान के निदेशक डॉ एस के गर्ग ने सभी अतिथियों का संस्थान में स्वागत किया। उन्होंने संस्थान के प्रगति पथ और अग्रसर होने की अनेक उपलब्धियों का सम्पूर्ण ब्यौरा सबके सामने रखा। डॉ गर्ग ने संस्थान में कार्यशील सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस जिसमे डाइकिन, रोबोटिक्स, मेट लैब, टेक्सास इंस्ट्रूमेंटेशन की जानकारी एवं अन्य कार्यशील व प्रगतिशील प्रयासों से भी परिचित कराया। उन्होंने बताया कि संस्थान उद्यमिता को बढ़ावा देता आया है जिस दिशा में संस्थान में मुकंद इनक्यूबेटर सेंटर की स्थापना की गई है। शिक्षा के क्षेत्र में भी संस्थान के छात्रों की उपलब्धियों को बताते हुए उन्होंने बताया कि संस्थान ने इस वर्ष के परीक्षा परिणामों में 14 स्थान हासिल किए व 4 स्वर्ण पदक भी प्राप्त किये है। कार्यक्रम में पं ज्ञानप्रकाश (प्रबन्धन समिति सदस्य), डॉ रमेश कुमार(महासचिव), डॉ एसके गर्ग (महासचिव, टीआईएमटी), डॉ विकास दर्याल (निदेशक,टीआईएमटी), डॉ विवेक शर्मा (निदेशक, जेएमआईईटीआई), डॉ एस के गर्ग (निदेशक, जेएमआईटी), अनिल बुद्धिराजा (प्रिंसिपल, एसजेपीपी), मुकंद संस्थानों के प्रधानाचार्य व निदेशक तथा अन्य गणमान्य अतिथिगणों ने भी समारोह की शोभा बढ़ाई। इस अवसर पर अंकुश सिंगला(रजिस्ट्रार),डॉ एलएस रीन, डॉ वंदना, डॉ गौरव शर्मा, विकास जुनेजा, डॉ ऋषि स्वरूप शर्मा, पंकज शर्मा, अनुजा गोयल, डॉ जया मल्होत्रा आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here