रादौर – पश्चिमी यमुना नहर में अवैध खनन का कार्य जारी, लाखों रुपए का रेत चोरी  

19
ख़बर सुने
🔔 वीडियो खबरें देखने के लिए 👉 यहां क्लिक करें 👈और हमारे चैनल को सब्सक्राइब व 🔔 का बटन दबा कर तुरंत पाए ताजा खबरों की अपडेट

रादौर, 13 नवंबर (कुलदीप सैनी) : प्रशासन की अनदेखी के चलते इन दिनों पश्चिमी यमुना नहर में अवैध खनन का कार्य लगातार जारी है। खनन माफिया नहर का जलस्तर कम होने के बाद नहर में बने टापुओं से लगातार खनन कर लाखों रुपए का रेत चोरी कर रहा है। लेकिन अभी तक प्रशासन की ओर से इन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिसके चलते अवैध खनन धड़ल्ले से हो रहा है। हालांकि पुलिस प्रशासन भी दावा कर चुका है कि अवैध खनन को रोकने का कार्य किया जाएगा लेकिन ऐसा होता दिखाई नहीं दे रहा है। उधर संबंधित विभाग के अधिकारी अभी इस मामले से अनभिज्ञता जता रहे है। क्षेत्र के लोगों का कहना है कि अगर कोई आम इंसान अपनी जरूरत को पूरा करने के लिए नहर या नदी से थोड़ा सा रेत उठा ले तो उसकी सूचना तुरंत संबंधित विभाग व पुलिस तक पहुंच जाती है, लेकिन अवैध खनन के मामले में प्रशासन का सूचना तंत्र काम करना ही बंद कर देता है। इसकी जांच होनी चाहिए और अवैध खनन पर रोक लगनी चाहिए। ताकि राजस्व को हो रहे नुकसान को रोका जा सके। क्षेत्रवासी अमरदीप, महावीर, गुलशन, रामलाल, राजीव, जसविंद्र, रामकुमार व गौरव का कहना है कि इन दिनों पश्चिमी यमुना नहर का जलस्तर काफी कम है जिससे नहर में जगह जगह रेत के टापू बन गए है। जिस कारण यह नहर अवैध खनन करने वालों के लिए पहली पसंद बन चुकी है। रात के अंधेरे व दिन में ही अवैध खनन का खेल लगातार जारी है। इसके लिए पर्याप्त मात्रा में मजदूरों को भी अपने साथ रखते है। ताकि कार्य को तेजी से पूरा किया जा सके। नहर में जगह जगह अवैध खनन के प्रमाण मौजूद है। इतना ही नहीं खनन माफिया द्वारा बनाए गए रास्ते भी साफ देखे जा सकते है,  लेकिन फिर भी प्रशासन हरकत में आता दिखाई नहीं दे रहा है। संबंधित विभाग अगर चाहे तो इस पर पूरी तरह से अकुंश लगा सकता है लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है। उनका कहना है कि यह कार्य मिलीभगत से हो रहा है। इसकी जांच होनी चाहिए और अवैध खनन पर रोक लगाई जानी चाहिए।
मामला जानकारी में नहीं-एसडीओ
सिंचाई विभाग के एसडीओ रूबन गर्ग का कहना है कि मामला उनके संज्ञान में नहीं है। नहर से अवैध रूप से खनन करना गैरकानूनी है। इससे नहर को भी नुकसान होगा। इस मामले की जांच की जाएगी और कर्मचारियों को नहर पर निगरानी रखने के लिए निर्देश जारी किए जाएगें। कोई भी अवैध खनन करता मिलता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here