रादौर – पहाड़ी क्षेत्रों में बरसात से उफान पर यमुनानदी,प्रशासन ने जारी किया अलर्ट 

130
ख़बर सुने
🔔 वीडियो खबरें देखने के लिए 👉 यहां क्लिक करें 👈और हमारे चैनल को सब्सक्राइब व 🔔 का बटन दबा कर तुरंत पाए ताजा खबरों की अपडेट

रादौर, 11 अगस्त (कुलदीप सैनी) : पिछले कई दिन से पहाड़ी क्षेत्र में हो रही बारिश से यमुना नदी का जलस्तर बढ़ गया। हथिनी कुंड बैराज से होकर निकल रहे पानी के बाद यमुना नदी का जलस्तर 2 लाख 21 हजार क्यूसेक पर पहुंचा। जलस्तर बढ़ने के बाद जहां प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया वहीं यमुना नदी से साथ लगते किसानों की चिंताएं भी बढ़ गई। किसान बढ़े जलस्तर को देखने के लिए यमुना नदी के किनारों पर पहुंच गए। इस वर्ष यह पहली बार हो रहा है कि यमुना नदी का जलस्तर इतना बढ़ा है। जिस कारण यमुना नदी पार खेतों में कहीं कहीं यमुना नदी का पानी खेतों में भी घुसना शुरू हो गया। जिससे किसानों की चिंता बढ़ गई। हालांकि इस पार अभी पानी किनारों पर ही था।

कहीं कहीं कटाव भी शुरू, खेतों में पानी पहुंचने से किसानों में भय का माहौल
किसान सुरजीत सिंह भूरा, शमशेर सिंह, रामकुमार, दिलबाग सिंह, राकेश कुमार, धर्मपाल, कुलवंत सिंह, मुख्तयार सिंह, सोमप्रकाश, महेंद्र सिंह, राजपाल व हरप्रीत सिंह ने बताया कि इस वर्ष पहली बार इतना पानी यमुना नदी में आया है। जिससे न केवल कहीं कहीं कटाव भी शुरू हो गया है। यमुनानदी के नगली घाट के समीप यूपी के साइड खेतों में कटाव हो रहा है। जिससे किसानों की भूमि यमुनानदी में समां रही है। वहीं यूपी साइड ही किसानों के खेतों में यमुनानदी का पानी खेतों में घुसना शुरू हो गया है। हालांकि इस पार अभी पानी ने खेतों की ओर रूख नहीं किया गया है लेकिन यमुनानदी पार खेतों में पानी जाने से किसानों की चिंताए अवश्य बढ़ गई है। किसानों को डर है कि अगर जलस्तर और अधिक बढ़ा तो खेतों में खड़ी फसल खराब हो जाएगी। जिससे उन्हें नुकसान उठाना पड़ सकता है। किसान यमुना नदी की स्थिति पर नजर बनाए हुए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here