रादौर – विवाहिता की मौत मामले में ससुराल पक्ष के सात लोगों के खिलाफ केस दर्ज, 3 गिरफ्तार

1472
ख़बर सुने
🔔 वीडियो खबरें देखने के लिए 👉 यहां क्लिक करें 👈और हमारे चैनल को सब्सक्राइब व 🔔 का बटन दबा कर तुरंत पाए ताजा खबरों की अपडेट

रादौर, 8 मार्च (नवदेश टाइम्स) :  रादौर में एक महिला को उसके ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा जबरन जहर देकर मारने का आरोप लगा है। सोमवार की दोपहर को महिला कुरुक्षेत्र से रादौर में अपने बच्चों से मिलने आई थी। आरोप है कि महिला को उसके बच्चों से नहीं मिलने दिया गया और उसके साथ मारपीट की गई। जिसके बाद महिला की हालत खराब होने पर ससुराल पक्ष के लोग उसे यमुनानगर के एक निजी अस्पताल में ले गए। जहां उसकी देर शाम को मौत हो गई। पुलिस ने मंगलवार को मृतक महिला पूनम के शव का पोस्टमार्टम करवाया और उसके भाई सतीश ललित की शिकायत पर ससुराल पक्ष के 7 लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया। मामला दर्ज करने के बाद सोमवार की देर रात पुलिस ने मृतक महिला के बड़े बेटे जतिन को गिरफ्तार किया। जबकि मामला दर्ज होने के बाद ससुराल पक्ष के अन्य लोग भूमिगत हो गए। बकाया आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मंगलवार को मृतक महिला के परिजन व भारी संख्या में अन्य लोग थाना रादौर पहुंचे और मामले में नामजद अन्य लोगों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किए जाने की थाना प्रभारी सुरेश कुमार से मांग की। गुस्साए लोगों ने पुलिस प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक सभी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होगी, तब तक वह मृतक पूनम के शव का संस्कार नहीं करेंगे। जिसके बाद पुलिस ने हरकत में आते हुए मृतक महिला के ससुर मदनलाल व उसकी सास को गिरफ्तार किया। जबकि मामले में नामजद मृतक महिला का पति वेदप्रकाश, देवर राजकुमार, ननंद राजरानी व मृतक महिला का छोटा लड़का उत्कर्ष अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर है। जिन्हें गिरफ्तार करने के लिए पुलिस ने कई जगह पर छापेमारी की। लेकिन उनका कोई सुराग नहीं लग पाया। वहीं पुलिस ने मामले को लेकर मृतक महिला के ससुराल पक्ष के लोगों के घर से सबूत जुटाए। पुलिस ने घर में व आसपास की दुकानों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की मदद से फुटेज जुटाई।
सतीश ललित निवासी चक्रवर्ती मोहल्ला, कुरूक्षेत्र ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि लगभग 23 वर्ष पहले उसकी बहन पूनम की शादी रादौर निवासी वेद प्रकाश पुत्र मदनलाल के साथ हुई थी। उसकी बहन के पास 2 बच्चे है। बड़ा लड़का जतिन व छोटा लड़का उत्कर्ष है। शादी के बाद से ही उसके पति वेदप्रकाश, ससुर मदनलाल, सास, ननंद राजरानी, देवर राजकुमार आदि ने उसकी बहन पूनम को शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित करते थे। वहीं उसकी बहन पूनम को उसके दोनों बच्चों से दूर रखने की कोशिश करते थे और बच्चों के मन में उनकी मां के प्रति घृणा पैदा की गई थी। पिछले 2 वर्षो से उसकी बहन को बहुत ज्यादा प्रताड़ित किया गया और उसके ऊपर चरित्रहीन होने का आरोप लगाकर उसे घर से निकालना चाहते थे। साजिश के तहत उसकी बहन पूनम को उसके भाई के साथ मायके भेज दिया गया। पूनम उसके भाई के साथ गुजरात में रह रही थी। जहां कोर्ट में घरेलू हिंसा को लेकर मामला विचाराधीन था। उसकी बहन पूनम कुछ दिन पहले गुजरात से कुरुक्षेत्र रहने के लिए आई थी। 7 मार्च को पूनम ने रादौर में रह रहे अपने बच्चों से मिलने की इच्छा व्यक्त की थी। जिसके बाद उसकी बहन अपने बच्चों को मिलने के लिए कुरुक्षेत्र से रादौर आई थी। जहां उसके साथ उसके ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा उसके साथ मारपीट की गई। जिसके बाद ससुराल पक्ष के पति वेदप्रकाश, ससुर मदनलाल, सास, ननंद राजरानी, देवर राजकुमार ने मिलकर उसकी बहन पूनम को जबरन जहर खिलाकर मार दिया। उनके पास शाम 7 बजे अनिल कुमार एएसआई थाना रादौर का फोन आया कि उनकी बहन पूनम का यमुनानगर के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया है। जिसके बाद वह मौके पर पहुंचे। इस बारे थाना रादौर प्रभारी सब इंस्पेक्टर सुरेश कुमार ने बताया कि मृतक महिला का पुलिस द्वारा पोस्टमार्टम करवाया गया है। वहीं पुलिस ने मृतक महिला के भाई की शिकायत पर ससुराल पक्ष के 7 लोगों के विरूद्ध मामला दर्ज किया है। मामले में नामजद 3 लोगों को अभी गिरफ्तार किया गया है। मामले में नामजद अन्य लोगों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here